कश्मीर और लद्दाख के नागरिकों को रोजी रोजगार दे केंद्र सरकार : आसिफ

IMG_4432नई दिल्ली : ऑल इंडिया माइनॉरिटी फ्रंट के राष्ट्रीय अध्यक्ष एस एम आसिफ ने कहा है। की कश्मीर से धारा 370 और 35 ए हटाए हुए आज एक वर्ष ही गया है। अब कश्मीर और लद्दाख केंद्र साशित प्रदेश हे। ऐसे में। अब यहां के नागरिकों को रोजी रोजगार देना केंद्र का काम है। लेकिन यह अभी तक नहीं हुआ है।

लोगो में निराशा है कि आखिर कब उनकी खुशहाली वापिस आएगी। आसिफ ने कहा 370 खत्म होने के एक साल बाद स्थानीय लोगों के सामने रोजी रोटी, रोजगार सबसे बड़ा सवाल है। ज्यादातर भर्तियां ठप हैं। स्थानीय कश्मीरियों में काम नही होने की शिकायत आम है।  बहुत से लोगों को धारा 370 समाप्त होने से अपने हक में बाहरी दखल की आशंका भी नजर आती है।

अधिवासी नीति को लेकर भी बहुत से लोग सवाल खड़े कर रहे हैं। लेकिन दूसरी तरफ बड़ी संख्या में माइग्रेंट वर्कर का कश्मीर में दोबारा वापस आना एक अलग भरोसे की कहानी बयान कर रहा है। दावा किया जा रहा है कि कोविड संकट के बावजूद करीब 50 हजार माइग्रेंट वर्कर वापस घाटी में आये हैं।

उन्होंने कहा कि यदि यहां के बच्चो को काम मिलेगा तो बच्चों का दिमाग इधर उधर नही जाएगा। काम नही मिलता तो बच्चो का दिमाग इधर उधर जाता है। इसलिए आईएमएफ मांग करती है कि कश्मीर में केंद्र जल्दी से लोगो के रोजी और रोजगार की व्यवस्था करे।

Comment is closed.