बिहार में टूटा भानुमती का कुनबा, बीपीए गठबंधन ही दे सकता है बिहार में मजबूत सरकार : आसिफ

IMG_4432नई दिल्ली : ऑल इंडिया माइनॉरिटी फ्रंट के राष्ट्रीय अध्यक्ष एस एम आसिफ ने कहा है। कि बिहार में यूपीए और एनडीए गठबंधन में आपस में ही दरार पड़ चुकी है। इससे जाहिर होता है कि बिहार में इन लोगो ने कुछ नहीं किया सिर्फ सत्ता हासिल कर बिहार को लूटने का काम भर ही इन्होंने किया है।

आसिफ ने कहा कि अब यूपीए से अब कुशवाह भी अलग हो रहे है मायवती के साथ जायेगे तो ऐसे में जब यह लोग आपस में ही एक दूसरे के सगे नहीं हुए तो भला ये लोग बिहार के लोगो के क्या सगे होगे।

आसिफ ने कहा कि बिहार पिछले एक सदी से इन अवसर वादियों के चंगुल में फसा रहा है। लेकिन अब बिहार के लोगों को बिहार प्रगतिशील गठबंधन बीपीए का विकल्प मिल गया है। अब बीपीए के नेतृत्व में ही बिहार की नई सरकार बनेगी और एक नए बिहार की गाथा लिखी जाएगी। जहां सभी के पास रोजगार, निशुल्क शिक्षा,उत्तम स्वास्थ्य होगा। उन्होंने कहा कि ऐसे में अब बिहार को बिहार प्रगतिशील गठबंधन बीपीए ही सर्वप्रिय सरकार दे सकता है। जो लोगो को भाई भतीजवाद,बेरोजगार, भ्रष्टाचार से मुक्ति दिलाएगा।

आसिफ ने कहा कि यह बहुत ही हैरान करने वाली बात है। कि बिहार में उर्दू भाषा वहां की गंगा जमुनी तहजीब रही और नीतीश सरकार ने आज तक इस भाषा के लिए कुछ भी नहीं किया। उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार में तालीम के लिए मदरसों के साथ सौतेला व्यवहार किया और मदरसों की हालत बिहार में खराब हो गई। उन्होंने कहा कि बिहार में भयंकर बेरोजगारी से युवा परेशान है तो वही कोरोना की दोहरी मार से आम जन करहा रहा है। इसलिए अब यदि बिहार में बीपीए गठबंधन की सरकार बनती हे तो सबसे पहले बिहार के बेरोजगार युवाओं को रोजगार दिया जाएगा।

Comment is closed.