मोदी किसानों से बात कर,करे अन्नदाता का सम्मान करें : आसिफ

किसानों की गिरफ्तारी और जेल भेजने के बदले उनसे बात करे सरकार :  माइनॉरिटी फ्रंट

IMG_4432नई दिल्ली। ऑल इंडिया माइनॉरिटी फ्रंट  ने मोदी सरकार से अनुरोध किया है कि आंदोलनकारी किसानों की गिफ्तारी और उनका दमन करने के बदले किसान यूनियन के नेताओं से बात करे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुद इसकी पहल करनी चाहिए।

ऑल इंडिया माइनॉरिटी फ्रंट के अध्यक्ष एस एम आसिफ ने यहां जारी बयान में कहा है कि कोरोनो महामारी काल में किसान अगर अपने खेतों में न जाता तो देश में भुखमरी फैल जाती। सरकार को देश के प्रति उसके योगदान का सम्मान करते हुए उनकी सभी जायज़ मांगों को मानना चाहिए।  आसिफ ने किसान विरोधी  तीनों कानून के विरोध में देश के किसान आंदोलन का पूर्ण संरथन करते हुए अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से कहा है कि वे उनके संघर्ष में साथ खड़े रहें। और आंदोलन में तन मन धन से सहयोग करें।

उन्होंने कहा है कि सरकार द्वारा किसान आंदोलन के प्रति उपेक्षा देश के लिए घातक है। उन्होंने कहा कि किसानों को अगर आप दिल्ली नहीं आने देना नहीं चाहते तो आप खुद उनके पास जाकर उनसे बात करें। किसानों के साथ सम्मानजनक व्यवहार किया जाना चाहिए। राजधानी में उनके लिए अस्थायी जेल बनाना समस्या का समाधान नहीं है।

Comment is closed.