देशी कोरोना वैक्सीन पर संशय निराधार-कोई राजनीति न करे- आसिफ

कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए सबको एक साथ खड़ा होना होगा

IMG_4432नई दिल्ली। अपने साइंटिस्टों पर भरोसा किया जाना चाहिए उनकी अथक मेहनत से कोरोना वैक्सीन बनी है। इसे लेकर किसी तरह की राजनीति नहीं होनी चाहिए। आल इंडिया माइनोरिटीज फ्रन्ट के अध्यक्ष डॉ एस एम आसिफ ने यह बयान जारी करते हुए कहा है कि सरकार को अपनी तरफ से इस वैक्सीन पर प्रकट की जाने वाली शंका व संशय का संतोषजनक जवाब देना चाहिए ताकि इस महामारी को जड़ से खत्म करने का प्रचण्ड अभियान कामयाबी तक पहँचे।

जनाब आसिफ ने कहा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और योग गुरु रामदेव का वैक्सीन न लगवाने का बयान बचकाना और देश के नागरिकों को गुमराह करने वाला है। स्वदेशी की हिमायत करने वाले इन महानुभावों को वैक्सीन का स्वागत करना चाहिए । उनके ऐसे बयानों से जनता भ्रमित होती है। विपक्ष दलों का केवल इसलिए विरोध ठीक नहीं है चंूकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की घोषणा कर दी है। भारत बायोटेक के एमडी कृष्णा एला ने भी टीके पर हो रही राजनीति पर अपनी आपत्ति दर्ज की है।

आसिफ ने कहा  कि अखिलेश यादव, योगगुरु राम देव और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की वैक्सीन न लगवाने की आपत्तियों में राजनीति नजर आती है। प्रधानमंत्री खुद को यह वैक्सीन लगवाकर देश और दुनिया को एक स्वस्थ संदेश दे सकते हैं। विरोध के स्वर उठाने वालों को भी आगे आकर देशी वैक्सीन को आगे बढ़ाने का कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि दुनिया के कई देशों ने भी वैक्सीन बना ली है। हमें अपने अविष्कार और शोध पर भरोसा करना चाहिए। उन्होंने कहा कि बिहार विधान सभा में कांग्रेस के नेता अजीत शर्मा को यह जिद नहीं करनी चाहिए कि  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को देश में सबसे पहले इस वैक्सीन को लगवाएं।

Comment is closed.